बिहार के इस मंदिर में बस पंचामृत का लेप लगाने से पूरी हो जाती है हर मनोकामना

मधुबनी : बिहार के मधुबनी जिले के मंगरौनी गांव में एक अद्भुत श्री श्री 1108 एकादश रूद्र महादेव का मंदिर है, जो अपने आप में अलौकिक है. कहते हैं कि वर्षों पूर्व जब कांची पीठ के शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती यहां आए थे, तो एक ही शक्ति वेदी पर भगवान शंकर के 11 अलौकिक रूप को

मधुबनी से लालू और नीतीश पर भड़के अमित शाह, कहा – इनकी जोड़ी पानी और तेल की तरह

बिहार : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एक दिवसीय दौरे पर बिहार पहुंचे चुके हैं. दरभंगा एयरपोर्ट पर बीजेपी नेताओं ने उनका भव्य स्वागत किया. निर्धारित कार्यक्रम के तहत चार घंटे के प्रवास के दौरान वे मधुबनी के झंझारपुर पहुंचे चुके हैं. जहां वो रैली को संबोधित कर रहे हैं. जिसके बाद वो अररिया के

‘बिहार में कमल खिलाने के लिए झंझारपुर आया हूं’, अमित शाह के निशाने पर नीतीश सरकार

झंझारपुर में अमित शाह रैली को संबोधित कर रहे हैं। इस दौरान अमित शाह ने कहा कि कुछ दिन पहले ये लालू-नीतीश जी की सरकार ने फतवा जारी किया की बिहार में रक्षाबंधन की छुट्टी नहीं होगी, जन्माष्टमी की छुट्टी नहीं होगी और बिहार की जनता ने जो आक्रोश दिखाई उससे उनकी शान को काम

16 सितंबर को बिहार के झांझरपुर आएंगे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, अंतिम चरण में तैयारियां

बिहार : 16 सितंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार के दौरे पर आ रहे हैं. उनके झांझरपुर आगमन को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में हैं. झांझरपुर स्थित स्टेडियम में अमित शाह का कार्यक्रम निर्धारित है. तैयारियों को लेकर डीएम-एसपी लगातार मॉनिटरिंग भी कर रहे हैं. स्टेडियम के पास ही हेलीपैड का निर्माण किया

नेपाल ने भारत से की पांच कार्गो और दस पैसेंजर बोगियों की मांग, जनकपुर तक होगी माल की ढुलाई

मधुबनी : भारत-नेपाल मैत्री रेल परियोजन के तहत जयनगर से वर्दीवास तक ट्रेनों का परिचालन हो रहा है। दो फेज जयनगर से कुर्था और कुर्था से बिजलपुरा तक यात्री ट्रेनें दौड़ रही हैं।तीसरे फेज में भूमि अधिग्रहण का पेच फंसा हुआ है, लेकिन चालू हो चुके रेलखंड को सुचारू रूप से चलाने के लिए मालगाड़ी

बिहार के इस गांव में जमीन के नीचे था अद्भुत शिवलिंग, बच्चे उठाकर ले आए घर, जानें फिर क्या हुआ

मधुबनी : कहते हैं कि सावन का महीना भगवान भोलेनाथ को काफी प्रिय है. यही कारण है कि इस माह में लोग भोलेनाथ की पूजा करने दूर-दूर के मंदिर जाते हैं और अपने आराध्यदेव के दर्शन कर उनसे अपने सुख-दुख बताते हैं. वैसे तो भगवान अंतर्यामी हैं, बावजूद भक्त जब उनसे अपने मन की बात

मधुबनी के किसानों की उड़ी नींद, कहीं इस साल भी हो ना जाए बेघर

मधुबनी : एक तरह जहां कुछ दिनों से मौसम में हुए बदलाव से लोगों को राहत मिली है. वहीं, किसानों के चेहरे पर भी खुशी छा गई है, लेकिन दूसरी तरफ अब उन्हें एक अलग डर सताने लगा है. जिसने उनकी नींद तक उड़ा दी है. नेपाल के तराई  क्षेत्रों में कल से लगातार हुई

जानें इतिहास इस पुष्प वाटिका में आज भी हैं भगवान राम के तीर, माता सीता यहां तोड़ा करती थीं फूल….

मधुबनी: माता सीता मिथिलांचल की ही बेटी थी, इसलिए मिथिलांचल में प्रभु श्रीराम को लोग दामाद के रूप में मानते हैं. मधुबनी जिले के हरलाखी प्रखंड के फुल्हर गांव में आज भी एक पुष्प वाटिका है. कहा जाता है कि माता सीता यहां फूल तोड़ने के लिए आया करती थीं. यहां आज भी भगवान राम

बच्चों को बनाना चाहते हैं डांस एक्सपर्ट, यहां कम फीस में निखर आएगा टैलेंट

मधुबनी : डांस एक ऐसी विधा है, जो हमेशा से युवाओं को अट्रैक्ट करती रही है, लेकिन अक्सर कोरियोग्राफर नहीं मिलने के कारण युवा बेहतरीन डांस करने से चूक जाते हैं. कोरोना के बाद यह देखा गया है कि कई बच्चे यूट्यूब से भी डांस सीखने का प्रयास करते रहते हैं. ऐसे में अगर आप

बिहार के महत्वपूर्ण स्थलों में से एक है सिद्धपीठ उच्चैठ भगवती स्थान, जहां मुर्ख से विद्वान बने कालिदास

मधुबनी: मधुबनी के बेनीपट्टी अनुमंडल मुख्यालय से उत्तर-पश्चिम दिशा में पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित सिद्धपीठ उच्चैठ भगवती स्थान एक मूर्ख व्यक्ति के महाकवि कालिदास बनने के ऐतिहासिक प्रमाण समेटे हुए है। आज भी कालिदास के गुरुकुल का अवशेष डीह यहां मौजूद है। 150 वर्ष ईसा पूर्व से 450 ईसवी के मध्यकाल में महामूर्ख

प्रख्यात कलाकार, साहित्यकार विभारानी को बिहार का डॉ. फादर कामिल बुल्के पुरस्कार

बिहार : फिल्म और टीवी कलाकार, साहित्यकार सुश्री विभा रानी को डॉ. फादर कामिल बुल्के पुरस्कार प्रदान किया जाएगा. हिन्दी साहित्य में उत्कृष्ट योगदान के लिए बिहार सरकार ने इस प्रतिष्ठित पुरस्कार हेतु सुश्री विभा रानी के चयन की घोषणा की है. कैंसर को मात देकर जिंदगी को पूरी उम्मीदों और हौसले के साथ जीने

मधुबनी की कमला नदी में डूबने से युवक की मौ’त, दूसरी सोमवारी के लिए भरने गया था जल

मधुबनी: बिहार के मधुबनी में सावन की दूसरी सोमवारी को लेकर कमला नदी मे स्नान करने वालों की भीड़ का तांता लगा हुआ है. श्रद्धालु कमला नदी से जल लेकर कर बाबा कपिलेश्वर एवं विस्फी के उगना महादेव को जल चढ़ाते हैं. जिसको लेकर जिला प्रशासन अलर्ट है. दूसरी सोमवारी को स्नान करने के दौरान कमला नदी

मां अपने दो बच्चों को लेकर पहुंची, फिर बॉयफ्रेंड ने मा’सूमों को मा’रकर नदी में फें’का

मधुबनी : यह प्रेम तो नहीं। फिर भी, 10 साल से प्रेम के नाम पर रिश्ता था तो दुनियादारी प्रेमी-प्रेमिका ही कहेगी। क्या 10 साल में एक-दूसरे का स्वभाव पता नहीं चलेगा? अगर पता होगा तो मंशा भी पता होगी या अंदाजा तो होगा ही। और, अगर अंदाजा था तो कोई मां अपने दो छोटे-छोटे

डेंटिस्ट ने करा दी डि’लीवरी, जच्चा-बच्चा की मौ’त पर हंगामा; ऑन ड्यूटी डॉक्टर को लोगों ने पी’टा

बिहार के मधुबनी के घोघरडीहा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्वास्थ्य व्यवस्था में बड़ी चूक सामने आई है। प्रबंधन की लापरवाही के कारण एक जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि प्रसव के लिए आई प्रसूता की डिलीवरी एक डेंटिस्ट और नई नर्स ने करा दी। मृतका की पहचान घोघरडीहा थाना क्षेत्र के

नेपाल में बारिश के कारण कमला नदी के जलस्तर में वृद्धि, बाढ़ का खतरा बढ़ा

मधुबनी: बिहार के मधुबनी में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. नेपाल और तराई इलाकों में हो रही बारिश के कारण एक बार फिर जयनगर में कमला नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. मूसलाधार बारिश के कारण जिले की नदियां उफान पर हैं. कमला बलान नदी झंझारपुर में खतरे के निशान से ऊपर