यूक्रेन में टूट चुकी है रूसी सेना, अपने ही वाहन को नि’शाना बनाने लगे सैनिक- ISW का दावा

यूक्रेन ने दावा किया था कि खारकीव से रूस की सेनाएं वापस जा रही हैं और यहां यूक्रेनी सेना ने बड़ा इलाका वापस  ले लिया है। खारकीव शहर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का बड़ा निशाना था लेकिन इंस्टिट्यूट फॉर स्टडी ऑफ वॉर का कहना है कि मई की शुरुआत से ही यूक्रेन की सेना यहां लोहा लेने की तैयारी कर रही थी।

ISW ने दावा किया था कि खारकीव से रूस की सेनाएं वापस जा रही हैं। यूक्रेन की सेना ने उन्हें बाहर निकाल दिया है। जिस तरह से कीव से रूस की सेना को निकाला गया था, उसी तरह खारकीव में भी यूक्रेनी सेना बड़ी कार्रवाई कर रही है। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि रूस चाहता है कि जब तक प्रॉक्सी फोर्स रूस में प्रवेश करें. उसकी सेनाएं वापस पहुंच जाएं।

यूके के रक्षा मंत्रालय ने रविवार को कहा था कि रूस ने फरवरी में जिन जगहों को कब्जे में लेने का दावा किया था उनमें से एक तिहाई जगहों पर जंग हार चुका है। उसने यह भी कहा था कि यूक्रेन में रूस की सेना तेजी से कम हो रही है और डोनबास का इलाका भी यूक्रेन के कब्जे में आ गया है।

यूके के रक्षा मंत्रालय ने यह भी दावा किया कि रूस की तरफ से अब जनरल भेजे जा रहे हैं। जिस तरह से युद्ध की शुरुआत में दावा किया गया  था कि यूक्रेन में रूसी सेना के जनरल या तो मारे गए हैं या फिर घायल हो गए हैं।

उसी तरह के दावे फिर किए जा रहे हैं। आईएसडब्लू ने अपने आकलन में कहा, जोपीरिज्जिया इलाके में तैनात रूस की सेना की हिम्मत जवाब दे चुकी है। सैनिक खूब शराब पी रहे हैं और अपने ही वाहन को निशाना बना रहे हैं। वे युद्ध करने को तैयार नहीं हैं।