शिवसेना ने छोड़ी सरकार बचने की उम्मीद, आज इस्तीफा दे सकते हैं उद्धव ठाकरे

एकनाथ शिंदे निकले खिलाड़ी और फंस गई अघाड़ी की गाड़ी? महाराष्ट्र के मौजूदा सियासी संकट को देखते हुए यही कहा जा सकता है। कहा जा रहा है कि एकनाथ शिंदे के पास करीब 40 विधायक हैं और शिवसेना उन्हें मना पाने में फेल हो गई है।

Film director Vivek Agnihotri takes a dig at Maharashtra CM Uddhav Thackeray  - पिता के बनाए सिद्धांतों को कुचल कर कोई भी बेटा सफल नहीं हो सकता- फिल्म  डायरेक्टर ने उद्धव ठाकरे

ऐसे में पार्टी के पास कोई विकल्प नहीं बचा है और आज उद्धव ठाकरे सीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं। उन्होंने दोपहर एक बजे कैबिनेट की मीटिंग बुलाई है और उसके बाद इस्तीफा दे सकते हैं।

दरअसल एकनाथ शिंदे के पास 40 से ज्यादा विधायक होने की खबर है और वह अब भाजपा के साथ जा सकते हैं। उन पर दो तिहाई से ज्यादा विधायक हैं, ऐसे में दल-बदल कानून भी लागू नहीं होगा। यही वजह है कि शिवसेना अब सरकार बचने की उम्मीद छोड़ती दिख रही है।

शिवसेना के सीनियर लीडर संजय राउत ने खुद ही ट्वीट कर इस बात के संकेत दिए हैं कि सरकार जा रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘राज्य के मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम विधानसभा भंग होने की ओर बढ़ रहे हैं।’ उनके इस ट्वीट से संकेत मिलता है कि शिवसेना की सरकार राज्यपाल से विधाानसभा भंग करने की सिफारिश कर सकती है।

हालांकि राज्यपाल अल्पमत की सरकार की सिफारिश को खारिज कर सकते हैं। ऐसी स्थिति में भाजपा एकनाथ शिंदे के गुट के विधायकों के साथ मिलकर सरकार गठन का दावा कर सकती है। इस तरह महाराष्ट्र की सत्ता शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के हाथ से छिनकर भाजपा के हाथ जा सकती है।

दरअसल आज सुबह ही एकनाथ शिदें ने वीडियो और तस्वीरें जारी की थीं, जिसमें 36 विधायक उनके साथ दिख रहे थे। उसके बाद से ही शिवसेना के तेवर ढीले पड़ते दिखे। संजय राउत ने मीडिया से बात करते हुए तभी कह दिया था कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा, सरकार चली जाएगी। उनके इस बयान के बाद से ही कयास लगने लगे थे कि शिवसेना अब हथियार डालती दिख रही है।

आदित्य ठाकरे ने भी दिए सरकार जाने के संकेत, भाजपा ऐक्टिव

संजय राउत ने कहा था, ‘ज्यादा से ज्यादा क्या होगा, सत्ता चली जाएगी। लेकिन सत्ता तो आ भी जाती है।’ सरकार गिरने का संकेत इस बात से भी लगाया जा रहा है कि आदित्य ठाकरे ने अपने ट्विटर बायो से मंत्री हटा लिया है। इस बीच भाजपा खेमा सक्रिय हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के घर पर भाजपा के विधायक पहुंच रहे हैं। चंद्रकांत पाटिल, आशीष सेलार जैसे सीनियर नेता भी उनके घर पहुंचे हैं।