बिहार से लेकर दिल्ली तक चल रहा दे’ह व्यापार का धं’धा, जानें बांग्लादेशी गि’रोह का यह काला सच..

भारत में गैर कानूनी त’रीके से घु’स आए बांग्लादेशी राजधानी दिल्ली और इससे सटे गुडग़ांव में से’क्स और न’शे का रै’केट चला रहे हैं। इनकी स’क्रियता डांस बार, हुक्का बार और नाइट क्लबों में अधिक है। ये लोग वहां आने वाले विदेशी नागरिकों खासकर नाइजीरियन छात्रों को जाल में फं’साकर उनका इस्तेमाल से’क्स वर्कर के रूप में कर रहे हैं।

बिना पासपोर्ट-वीजा के रहने वाले ऐसे बांग्लादेशियों की संख्या सौ से अधिक बताई जा रही है। पुलिस की नजर से बचने के लिए ये कि’न्नर के वे’श में रहते हैं। गत 13 मार्च को भागलपुर में गि’रफ्तार बांग्लादेशी श’हादत हुसैन उर्फ पायल के बयान से इसका पर्दाफा’श हुआ है। ऐसे बांग्लादेशियों को उनका सरदार (सरगना) दिल्ली और गुडग़ांव में कमरे उपलब्ध कराता है।

ये लोग पहले से मिली डिमांड पर नाइजीरियन छात्रों को महिला ग्राहकों तक पहुंचाते हैं। इसके एवज में वे अच्छी-खासी रकम वसूलते हैं। सब कुछ पहले से मोबाइल पर त’य हो जाता है। दिल्ली और आसपास के इ’लाके से पैसे वाले लड़कों की भी डिमांड पर लड़कियां मुहैया कराई जाती है। इस धंधे में अरमानियाई, उजबेकी और कजाकी मूल की महिलाओं की भी संलिप्तता बताई गई है।

बांग्लादेशियों का गिरोह विदेशी ब्रांड की सि’गरेट में स्मै’क और अन्य न’शीली दवाओं का इस्तेमाल करते हैं। ऐसी खास सि’गरेट श’हादत उर्फ पायल के पास भी मिली थी। दिल्ली और गुडग़ांव में सक्रिय बांग्लादेशी गि’रोह हांगकांग की बनी विंग कंपनी की सि’गरेट का इस्तेमाल खासतौर पर कर करते हैं।

Input: Jagran