आश्चर्यजनक घ’टना; दुधमुंहे बच्चे को लेकर ट्रेन के सामने कूदी माँ, 2 टु’कड़ों में क’ट गई मां, बच्चे को नहीं आई ख’रोंच, देखें…

#Darbhanga #Bihar कहते हैं कि जाको राखे साईयां, मा’र सके ना कोय, बाल ना बांका कर सके जो जग बैरी होए। यह कहावत चरितार्थ होती दिखी दरभंगा स्टेशन के समीप स्थित म्यूजियम गुमटी के गेट संख्या 26 के पास। यहां शुक्रवार को एक महिला अपने दुधमुंहे बच्चे के साथ चलती ट्रेन के सामने कू’द गई। कू’दने के साथ ही महिला का शरीर दो टुकड़ों में क’ट गया, वहीं बच्चे को एक ख’रोंच तक नहीं आई, वह बाल-बाल बच गया। इस घट’ना की जानकारी मिलते ही स्टेशन व आसपास स’नसली फै’ल गई।

इस दिल दह’लाने वाली घ’टना को देखकर लोगों के बीच कई तरह की बातें होने लगीं। लोग बच्चे को गोद में लेकर पु’चकारने लगे। वहीं मृ’तक महिला का श’व देखकर लोगों की रू’ह सिहर गई। आरपीएफ इंस्पेक्टर जवाहर लाल, जीआरपी थानाध्यक्ष सुनील द्विवेदी, स्टेशन अधीक्षक अशोक कुमार सिंह आ’नन-फा’नन में मौके पर पहुंच घ’टना का जायजा लिया।जीअारपी ने श’व को पोस्टमा’र्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया है। अभी तक श’व की शि’नाख्त नहीं होे सकी है।

ना ही मृ’तका के पास से कुछ बरा’मद हुआ है।घ’टना के बाद करीब आधा घंटा तक दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बा’धित रहा। इसके कारण सुबह 8.25 बजे खुलने वाली बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस भी आधा घंटा विलंब से खुली। घ’टना के संबंध में बताया जाता है कि दरभंगा स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या एक से दिल्ली जाने वाली बिहार संपर्क क्रांति ट्रेन जैसी ही रवाना हुई कि कुछ ही दूरी पर म्यूजियम गुमटी के सामने महिला अपने नवजात शिशु को लेकर ट्रेन के आगे कू’द गई.