MUZAFFARPUR : 5 चरणों में होंगे दिसंबर में होने वाले पैक्स चुनाव : डीएम

MUZAFFARPUR (ARUN KUMAR) : दिसंबर 2019 में होने वाले पैक्स चुनाव को लेकर पदाधिकारियों के साथ आज जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष ने समीक्षा बैठक की। उक्त बैठक सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारी और नोडल पदाधिकारियो के साथ कि गई एवं निष्पक्ष और शांतिपूर्ण निर्वाचन को लेकर आवश्यक निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी वरीय पदाधिकारी अपने-अपने कोषांगों से सम्बंधित कार्य योजना तैयार कर उसका क्रियान्वयन हर-हाल में निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत करना सुनिश्चित करें एवं की गई कार्रवाई से अवगत भी कराएंगे।उन्होंने पैक्स निर्वाचन के जिला स्तरीय नोडल पदाधिकारी सह उप विकास आयुक्त को निर्देश दिया कि सभी कोषांगों से समन्वय स्थापित करते हुए कोषांगों के कार्यो का नियमित रूप से अनुश्रवण करेंगे।

डीएम ने कहा कि पैक्स चुनाव के लिए बिहार राज्य निर्वाचन प्राधिकार द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गई है। अतः पूरी निष्पश्चता और तत्त्परता के साथ एवं पूरी पारदर्शिता के साथ कार्य करें। वही जिला सहकारिता पदाधिकारी ललन शर्मा ने बताया कि जिले में कुछ 385 पैक्स हैं, इसमें 354 पैक्स में चुनाव होना है। कुल बूथ 1005 है। कुल भवन 368 होंगे। 01 पैक्स का चुनाव 2017 में हो चुका है जबकि 30 पैक्स समितियो द्वारा प्राधिकार को राशि जमा नही की गई है इसलिए वहां निर्वाचन नही हो रहा है। चुनाव पांच चरणों में होगा। प्रथम चरण में 9 दिसंबर को मुसहरी, मुरौल, बंदरा और सकरा में, दूसरे चरण 11 दिसंबर को गायघाट, कटरा औराई में, तीसरे चरण 13 दिसंबर को मीनापुर, कांटी, मोतीपुर औऱ चौथे चरण में यानि 15 सितम्बर को साहेबगंज, कुढ़नी, बोचहां और अंतिम पांचवे चरण में 17 दिसम्बर को मड़वन, सरैया औऱ पारू में निर्वाचन होगा।

कार्मिक कोषांग, आदर्श आचार संहिता और विधि व्यवस्था कोषांग के प्रभारी पदाधिकारियो को विशेष निर्देश दिए गए। बैठक में सभी संबंधितों को प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी के माध्यम से आवश्यक प्रपत्रों को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि जानकारी के अभाव में कोई गड़बड़ी नहीं हो। इसके लिए नियमावली को ठीक से पढ़ लें। निर्वाचन प्राधिकार के आदेश का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करें। बैठक में डीडीसी, एडीएम राजस्व, निदेशक डीआरडीए, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी भूअर्जन पदाधिकारी, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी और विभिन्न कोषांगों के नोडल पदाधिकारी उपस्थित थे।