सामान्य हो रही जिंदगी : 40 देशों ने खोला लॉ’क डाउन, 6 देश सी’माएं खोलने को तैयार

NEW DELHI : कोरो’ना वाय’रस महामा’री के प्रसार को रोकने के लिए दुनियाभर में लॉ’कडाउन लगाया गया था। अब दुनिया के सबसे प्रभावित 80 देशों में से 40 देशों ने अपने यहां लॉ’कडाउन खोल दिया है। इन देशों में जिं’दगी धीरे-धीरे प’टरी पर आना शुरू हो गई है। इन 40 देशों में सबसे ज्यादा 26 यूरोपीय देश हैं। छह देश तो ऐसे हैं जो अपनी सी’माएं खो’लने के लिए भी तैयार हैं।

औरा विजन समेत अन्य रिसर्च एजेंसियों की रिपोर्ट में यह दा’वा किया गया है। लॉ’कडाउन खोलने वाले देशों में फिर से कई उद्योग, दुकानें, रेस्तरां, स्कूल, बीच, बार और अन्य स्थल खुल चुके हैं। लॉ’कडाउन खोलने वाले सबसे ज्यादा 26 देश यूरोप के हैं। कोरो’ना प्रभा’वित मुख्य 10 देशों में भी छह देश यूरोप के ही हैं।

अमेरिका और एशियाई देशों में खुला लॉ’कडाउन

इनके अलावा अमेरिका और एशियाई देशों में भी लॉ’कडाउन खुला है। इन देशों की सरकारों का मानना है कि अर्थव्य’वस्था को पटरी पर लाने के लिए लॉ’कडाउन खोलना जरूरी है। छह देश अब सी’माएं खोलने पर भी जोर दे रहे हैं। बेल्जियम, जर्मनी और स्विट्जरलैंड 15 जून से विदेशी पर्यटकों को आने देने की यो’जना बना रहे हैं। इस महीने के आखिर में इसकी घो’षणा की जा सकती है।

कई देशों ने दिया अपनी सीमाएं खोलने पर जोर

ग्रीस एक जुलाई से विदेशी पर्यटकों के लिए सी’मा खोलने जा रहा है। इटली तीन जून से अपनी सी’माएं खोलेगा। नीदरलैंड्स ने कुछ देशों के यात्रियों को आने की अनुमति दी है। पोलैंड 13 जून से सी’माएं खोल सकता है। दुनिया के 195 देश कोरो’ना प्रभा’वित हैं। चीन को छोड़ बाकी देशों ने मार्च या अप्रैल में लॉ’कडाउन लगाया था।

अमेरिका के 50 राज्यों में से 30 में लॉ’कडाउन खुला

अमेरिका के 50 राज्यों में से 30 में लॉ’कडाउन खुल चुका है। चीन की लं’बी दीवार पर लॉ’कडाउन खुलने के बाद बड़ी संख्या में घरेलू पर्यटक आने लगे हैं। थाईलैंड में दुकानें, फूड कोर्ट खुले हैं। वहीं, पाकिस्तान में लाहौर, कराची समेत पांच एयरपोर्ट से घरेलू विमान सेवाएं ब’हाल कर दी गई हैं।

ऑस्ट्रेलिया में हफ्ते में एक ही दिन स्कूल आने का नियम

फ्रांस के स्कूलों में 11 साल के बच्चों को मास्क लगाकर आने की ही अनु’मति है। इससे बड़े बच्चों को वा’इजर कैप लगाकर स्कूल आना अनि’वार्य है। ऑस्ट्रेलिया में हफ्ते में एक ही दिन स्कूल आने का नि’यम रखा गया है, बाकी दिन घर पर ही पढ़ाई करनी होगी। ताइवान और नीदरलैंड्स के स्कूलों में प्लास्टिक स्क्रीन से विभा’जन किया गया है। फिनलैंड में बच्चों को हाथ मिलाने और गले मिलने की म’नाही है उन्हें इसके लिए नए तरी’के सिखाए जा रहे हैं।