बिहार के हो’टलों में चीन के पर्य’टकों की एं’ट्री बं’द : होटल मालिकों का बड़ा फै’सला

PATNA : वैश्विक महामारी कोरो’ना संक’ट के बीच बिहार के हो’टल मालिकों ने एक साह’सिक कदम उठाया है। भारत-चीन सी’मा पर हुई घट’ना ने यहाँ के लोगों का स्‍वाभि‍मान जगाया और कमाई की चिं’ता छो’ड़ देशभक्ति के जज्बे के बीच उन्‍होने एक बड़ा फै’सला ले लिया। अब से यहाँ के होटलों में चाइनीज टुरिस्‍टों की एंट्री नहीं होगी। उनके होटल में ठह’रने पर पुरी तरह का रो’क लगा दिया गया है। बका’यदा उसके लिये उन्‍होने अपने नो’टिस बोर्ड पर चि’पका दिया है- ‘चायनीज टूरिस्ट आर नॉट एला’उड’।

बोधगया होटल एसोसिएशन ने निर्णय लिया है कि वे चायनीज पर्य’टकों को ठ’हरने के लिए हो’टलों में रुम नहीं देगी। होटलों के बाहर ‘चायनीज टूरिस्ट आर नॉट एला’उड’ का नो’टिस चि’पका दिया गया है। एसोसिएशन के महासचिव सुदामा कुमार ने बताया कि हम चायनीज पर्यटक का वि’रोध कर रहे हैं। जो भी चानजीय पर्यटक यहां आएंगे हम उन्हें ठह’रने के लिए हो’टल में रुम नहीं देंगे।

सुदामा कुमार ने बताया कि भारत-चीन सी’मा पर चीन की हर’कत से पूरा देश ना’राज है, हमारा एसोसिएशन भी इसकी भर्त्स’ना करता है। उन्होनें कहा कि सभी जगह चायनीज सामान का वि’रोध हो रहा है। हमारा एसोसिएशन भी देशभक्ति की इसी भा’वना के साथ खड़ा है और हम किसी भी की’मत पर यहां आने वाले चायनीज पर्य’टकों की म’दद नहीं करेंगे। गौरतलब है कि बोधगया में हर वर्ष लाखो की संख्या में चीन, तिब्बत, अमेरिका, न्यूयार्क, फ्रांस, जर्मनी, जापान आदि कई देशों के विदेशी पर्य’टक और बौद्ध भि’क्षु यहां आते है।