#MUZAFFARPUR के निजी अस्प’तालों में जल्द होगा कोरो’ना का इ’लाज, आईएमए के साथ बनी सह’मति

MUZAFFARPUR (ARUN KUMAR) : कोविड-19 कोरो’ना वाय’रस के संक्र’मण की रो’कथाम और उस पर प्र’भावी नियंत्रण को लेकर जिला प्रशासन की कवायद जारी है। इस क्रम में आज समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में निजी अस्प’तालों के प्रबंधकों, आईएमए के प्रतिनिधियों तथा ड्र’ग्स एंड के’मिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई।

बैठक में आई एम ए के प्रतिनिधियों तथा ड्रग्स एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के द्वारा कोरोना जैसी वै’श्विक महामा’री से उत्पन्न सं’कट से निप’टने के मद्देनजर प्रशासन को हर तरह से सह’योग करने की बात कही गई। उनके द्वारा कहा गया कि सं’कट की इस घड़ी में हम सभी जिला प्रशासन के साथ है। मालूम हो कि अत्यधिक संख्या में चिकि’त्सक भी कोरोना पॉजि’टिव पाए गए थे। धीरे धीरे अब वे स्व’स्थ हो अपने दा’यित्वों को बखूबी अंजा’म दे रहे हैं। संक’ट की इस घड़ी में बं’द पड़े अस्प’ताल भी धीरे-धीरे खुल रहे हैं।

जिलाधिकारी द्वारा संबंधित संस्थाओं के प्रतिनिधियों से अनु’रोध किया गया कि निजी अस्प’तालों में चिकि’त्सा सेवाओं को शुरू की जाए। इम’रजेंसी के साथ-साथ ओपीडी भी अपना कार्य करें ताकि आम -आवाम को चिकि’त्सा सुविधा मयस्सर हो सके। उन्हें परेशा’नियों से रूबरू ना होना पड़े। आई एम ए के प्रतिनिधियों ने कहा कि इमरजें’सी सेवाएं बहुत हद तक शुरू कर दी गई हैं ।ओपी’डी सेवा भी धीरे-धीरे बहा’ल कर दी जाएंगी।

कोरो’ना के गंभी’र रो’गियों का इलाज निजी अस्प’तालों में हो इसके लिए इ’लाज हेतु निजी अस्प’तालों में निर्धारित बेड आर’क्षित किए जाएं, इस बिंदु पर भी वि’चार वि’मर्श किया गया। इस संबंध में आईएमए के द्वारा एक सप्ताह का समय मांगा गया है। बेडों के आरक्षण को लेकर उनका कहना था कि अन्य रो’गियों के इला’ज में कठि’नाई उत्पन्न हो सकती है लिहाजा पूरे अस्प’ताल को ही कोरो’ना अस्प’ताल के रूप में रखा जाए तो बेहतर होगा। उन्होंने प्रशासन से अनु’रोध किया कि संक’ट की इस घड़ी में हम प्रशासन के साथ हैं।

हमें एक सप्ताह का समय दिया जाए। ड्रग्स एसोसिएशन के द्वारा बताया गया कि कुछ द’वाइयां जो महत्वपूर्ण है लोग उसकी खरी’दारी आव’श्यकता से अधिक कर रहे हैं। जिलाधिकारी डॉ० चंद्रशेखर सिंह ने जिले वासियों से अपी’ल की है कि आवश्यकता के अनुरूप ही इन द’वाओं की खरीदारी करें। पै’निक होकर द’वाओं को नहीं खरीदे। विटामिन सी या अन्य आवश्यक द’वाइयां पर्याप्त मात्रा में जिले में उपलब्ध है, ना तो उनके प्रोडक्शन में कोई दि’क्कत है और ना ही उनके ट्रांस’पोर्टेशन में कोई परे’शानी है। सभी जरूरी द’वाओं की उपल’ब्धता जिले में प’र्याप्त है।