त्योहारों के मद्देनज़र सरकार द्वारा जारी गाइडलाईन का पा’लन हर हाल में सुनि’श्चित हो : प्रमण्डलायुक्त

MUZAFFARPUR (ARUN KUMAR) : प्रमंडलीय आयुक्त पंकज कुमार के द्वारा मुहर्रम/गणेश पूजा को लेकर विधि व्यवस्था की स्थिति, को’विड-19 महामा’री नियंत्रण हेतु की जा रही का’र्रवाई एवं बा’ढ़ प्रभावित क्षेत्रों में रा’हत कार्यों की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रें’सिंग के माध्यम से की गई। वीडियो कॉन्फ्रें’सिंग में मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतामढ़ी, शिवहर, मोतिहारी, बेतिया के डीएम और एसपी उपस्थित थे।

आगामी पर्व मुहर्रम एवं गणेश उत्सव के शांतिपूर्ण आयोजन के मद्देनजर विधि व्यवस्था संधारण को लेकर सभी जिले के जिला अधिकारियों को आवश्यक निर्दे’श प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा दिया गया। उन्होंने सभी उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मोहर्रम एवं गणेश उत्सव को लेकर सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन का पालन करवाना हर -हाल में सुनिश्चित की जाए।

सभी जिलों में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा किए जा रहे निरो’धात्मक का’र्रवाई की समीक्षा की गई एवं निर्दे’श दिया गया कि आने वाले पर्व /त्योहारों को देखते हुए सभी जिला अल’र्ट मोड में रहे। अफ’वाह फै’लाने वाले पर स’ख्त का’र्रवाई करना सुनिश्चित की जाए। शांतिपूर्ण एवं सौ’हार्दपूर्ण माहौल में पूजा और इबादत हो इसके लिए पर्याप्त संख्या में दं’डाधिकारी एवं पुलिस अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की जाए। कर्त’व्यों के निर्वहन में लाप’रवाही ब’रतने वाले पदाधिकारियों के विरुद्ध स’ख्ती बर’तने का निर्दे’श भी प्रमंडलीय आयुक्त के द्वारा दिया गया।

आयुक्त द्वारा निर्दे’श दिया गया कि गणेश उत्सव एवं मोहर्रम पर्व के दौरान सार्वजनिक स्थल पर किसी प्रकार का धा’र्मिक कार्यक्रम का आयोजन ना हो। साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर कोई प्रतिमा स्था’पित न की जाए। साथ ही असा’माजिक त’त्वों पर जिला प्रशासन पै’नी नजर बनाए रखें। उन्होंने स्पष्ट कहा कि प्रशासन के दिशा- निर्दे’शों का अनुपा’लन नहीं करने वाले के विरु’द्ध स’ख्ती बरत’ने में गुरे’ज न करें। वही आईजी गणेश कुमार के द्वारा भी सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक को निर्दे’शित किया गया कि पूरी चौ’कसी बरती जाए।

कार्य में लाप’रवाही बरतने वाले अधिकारियों पर का’र्रवाई करें। डीजे एवं लाऊड स्पीकर बजाने वाले, श’स्त्रों के प्रद’र्शन करने की मं’शा रखने वाले को ब’क्शे नहीं। उनके द्वारा निर्देश दिया गया कि सभी जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक न केवल शहरों में बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों पर भी सतत निगरानी रखें ताकि आपसी स’द्भाव और भाईचारा को बिगा’ड़ने वाले के वि’रुद्ध स’ख़्ती ब’रती जा सके। जिला, अनुमंडल और प्रखंड स्तर पर शांति समिति की बैठक की भी समीक्षा की गई।

वीडियो कॉन्फ़्रें’सिंग के दौरान निर्दे’श दिया गया कि सभी स्तरों पर शांति समिति के सदस्यों का सहयोग लेना भी सुनिश्चित किया जाए ताकि आपसी समन्वय के साथ आगामी पर्व व्यवहार को पूर्व के भांति अमन एवं शांति के साथ मनाया जा सके। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड-19 से संबंधित जिले में चल रहे टेस्टिं’ग, कोविड सेंटर की व्यवस्था आदि पर जानकारी लेने के साथ-साथ कंटे’नमेंट जोन प्लान का क’ड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया। जिलावार टेस्टिं’ग की भी समीक्षा की गई एवं आवश्यक निर्देश आयुक्त महोदय के द्वारा दिए गए।

जिले में बा’ढ़ की स्थिति और उससे संबंधित राहत कार्य की समीक्षा भी आयुक्त द्वारा की गई। समीक्षा के क्रम में उन्होंने कहां कि अभी भी बा’ढ़ का खत’रा ट’ला नहीं है। अतः सत’र्क रहने की जरूरत है। सभी नदियों की सतत नि’गरानी करने की भी जरूरत है। सभी जिलों में बा’ढ़ से सम्बंधित चलाये जा रहे राहत कार्य की प्रशंसा भी आयुक्त के द्वारा की गई। साथ ही राहत कार्य के संचालन को लेकर महत्वपूर्ण निर्देश भी उनके द्वारा दिए गए।