#KISHANGANJ के संवे’दनशील एसपी की पहल : दे’ह व्यापार से मु’क्त कर महिलाओं को आत्मनि’र्भर बनाने के साह’सिक अभि’यान की शुरुआत

MUZAFFARPUR (ARUN KUMAR) : दे’ह व्या’पार को पूरे भारत में अपराध माना जाता है, ऐसी बहुत कम महिलाएं हैं जो अपनी म’र्जी से दे’ह व्यापार के धं’धे में आती है. इस काम में लिप्त ज्या’दातर महिलाएं ऐसी हैं जिनकी या तो कोई मज’बूरी है या अनजाने में उन्हें इस काम में ध’केल दिया गया है. इस क्रम में बहुआयामी अनव’रत शो’षण और रोज’गार की विक’ल्पहीनता से मज’बूर ऐसे असम्मा’नजनक कर्म करने को विव’श ऐसी महिलाओं के लिए वि’कल्प तला’शने और स’भ्य समाज में जीने के अधि’कार दिलाने की ल’ड़ाई में अपनी महती भूमिका निभा रहे हैं किशनगंज के सजग एवं संवे’दनशील पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष.

किशनगंज में देह-व्यापार से जुड़े दर्ज’नों अभि’युक्तों को जे’ल भेजने, माननीय न्या’यालय से त्वरित विचरण कर समुचित स’ज़ा दिलवाने के बाद भी जब ये सामाजिक कुरी’ति पूर्णतः बं’द नहीं हुई तो जिले के एसपी कुमार आशीष ने इस सामाजिक को’ढ़ के समू’ल नाश’ के लिए वैसे लोगों को समाज की मु’ख्य धा’रा से जोड़ने और उन्हें आत्मनि’र्भर बनाने का साह’सिक अभि’यान शुरू किया.

इन लोगों से बातचीत कर उन्हें तैयार कंरने में तत्कालीन जिलाधिकारी हिमांशु शर्मा एवं पूर्व विधायक मास्टर मुजाहिद आलम और उनकी टीम ने भी बखू’बी साथ दिया. पिछले साल ही ये कार्यक्रम 20 फरवरी को होने वाला था मगर कुछ अपरि’हार्य कारणों से इसे अम’लीजामा नहीं पहनाया जा सका. फिर पूरी दुनिया ने कोरो’ना जैसी महामा’री की विभी’षिका भी झे’ली. इन सब के बाद पुन: इस साल एसपी किशनगंज ने इस कार्य की परि’कल्पना को पूर्ण करने के लिए जिला प्रशासन के सह’योग के लिए वर्तमान डीएम डॉ आदित्य प्रकाश से अनुरोध किया. उन्होंने सहर्ष इस जनकल्याण कार्य से जु’ड़ अभि’यान का हिस्सा बनने में अपनी सह’मति और सह’योग देने का वायदा किया.

दिनांक 06 जनवरी को कोचाधामन थाना क्षेत्र अंतर्गत बिशनपुर ओपी थाना कैम्पस में जिला प्रशासन एवं जिला पुलिस किशनगंज के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में दे’ह व्यापार के धन्धे से हमेशा के लिये अलग होने वाले 22 परिवारों की महिलाओं को रोज’गार व स्वरो’जगार से जो’ड़ने के लिए विभिन्न कल्या’णकारी योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई. साथ ही जरूर’तमंदों को सिलाई मशीन सेट, तीन लाख रुपये का चेक जी’विका से प्रदा’न किया गया ताकि वे इस पैसे से रोज’गार कर अपना जीवि’कोपार्जन कर सकें. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डीएम डा आदित्य प्रकाश, एसपी कुमार आशीष, पूर्व विधायक कोचाधामन मास्टर मुजाहिद आलम, एसडीपीओ अनवर जावेद अंसारी, एसडीसी, डीपीएम जीविका, जिला प्रबंधक डीआरयुसीसी, एसएचओ, बीडीओ, पंचायत प्रतिनिधि गन सामाजिक कार्यकर्ता व ग्रामीण उपस्थित रहे.

एसपी किशनगंज ने इस मौके पर स्पष्ट रूप से कहा की जिला एवं पुलिस प्रशासन के सा’र्थक प्रया’स तथा सामा’जिक जागरूकता से देह व्यापार के ध’न्धे को जिले से समाप्त करने की को’शिश बिशनपुर के रेड लाइट इलाके से शुरू की गई है. इस बु’राई को भविष्य में जिले के अन्य क्षेत्रों यथा किशनगंज थाना के खगड़ा रेड लाइट इलाका एवं बहादुरगंज थाना के प्रेमनगर टोला से भी इस व्यापार को ज’ड़ से ह’टाया जाएगा। समाज की मुख्यधा’रा से भ’टकी हुई महिलाओं को जिला प्रशासन के माध्यम से रोज़’गार के नए अव’सर प्रदान किये जायेंगे ताकि इस सामाजिक बु’राई का समूल ना’श हो सके और मज़बूरी में कोई मज़लूम ऐसे कुच’क्र का शि’कार ना हो सके. इसके साथ ही उन क्षेत्रों में लगातार गश्ती और जां’च अभि’यान चलता रहेगा, ताकि असामा’जिक त’त्वों पर पूर्ण नि’यंत्रण रखा जा सके.

उन्होंने समाज के सभी प्रबु’द्ध लोगों को इस मु’हिम में साथ आने की अपी’ल भी की. समाज के सह’योग से ही सामा’जिक अपरा’धों का प्रभा’वकारी श’मन सुनिश्चित किया जा सकता है. एसपी श्री कुमार ने अपने संबो’धन में साफ-साफ चेता’वनी देते हुए कहा कि नाबा’लिग लड़कियों से या किसी महिला से जब’रन दे’ह व्यापार करवाने वालों को ब’ख्शा नहीं जाएगा.
सही मायनों में यह सरकारों ही जि’म्मेदारी बनती है कि वह उन हाला’त पर भी ध्यान दें जिनके चलते किसी महिला को दे’ह क’र्म अपनाने पर मज’बूर होना पड़ता है. सरकारें इस पे’शे में लगी महिलाओं को ऐसे विक’ल्प उपलब्ध कराएं जिनसे कि वे इस द’लदल से बाहर निकल सकें और उनका रच’नात्मक  पुनर्वा’स हो सके. अंततः इस बुराई का आमू’ल-चू’ल खा’त्मा होना चाहिए.