फ्रिज में छिपकर बैठा है आपके हेल्थ का सबसे बड़ा दुश्मन, जानें

वर्तमान समय में हर घर में फ्रिज का रहना अनिवार्य बन गया है. मध्यमवर्गीय परिवारों में फ्रिज, मानों परिवार के एक सदस्य की तरह होता है. घर के बच्चे फ्रिज के दरवाजे पर कई तरह के स्टीकर लगा देते हैं. उसे डेकोरेज करते हैं. फ्रिज से ठंडा-ठंडा और कूल-कूल पानी निकालकर पीने का मजा ही कुछ और होता है.

फ्रिज में सब्जी, आटा और खाने-पीने की अन्य सामग्री रखी जाती है, ताकि वो खराब ना हो और ज्यादा समय तक उसका प्रयोग किया जा सके. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि फ्रिज बाहर से दिखने में भले ही सुंदर और कूल दिखता हो. उसके अंदर आपके हेल्थ के बड़े दुश्मन छुपे बैठे होते हैं. आप रोजाना फ्रिज खोलते हैं. आपकी नजर उस ओर नहीं जाती है. आप बीमार पड़ते हैं, तो अपना खाना चेक करते हैं. डायट पर ध्यान देते हैं. पानी की क्वालिटी चेक करते हैं, लेकिन फ्रिज की ओर आपका ध्यान नहीं जाता.


आज हम आपको बताते हैं कि फ्रिज में कहां और कैसे छुपकर बैठा है आपके हेल्थ का दुश्मन. आपको जानकर हैरानी होगी. रोजाना आप फ्रिज खोलते हैं. उसमें से सामग्री निकालकर खाते हैं, लेकिन आपको उस खतरनाक दुश्मन पर नजर नहीं जाती, जो आपके स्वास्थ्य को धीरे-धीरे चौपट करने में जुटा हुआ है.

सबसे पहले बताते हैं आपके खाने को फ्रिज कैसे ठंडा करता है. उसी में छुपा है आपका दुश्मन और कोरोना काल में ब्लैक फंगस की वजह से कैसे दरवाजे के रबर कोटिंग में छुपा बैठा है हेल्थ का खलनायक. विशेषज्ञों की मानें, तो रेफ्रिजरेटर में सीएफ़एस( क्लोरो फ़्लोरो कार्ब्न्स) गैस होती है जो कि रेफ्रिजरेटर को ठन्ढा करने का काम करती है.यह गैस हमारे वातावरण के लिए बहुत हानिकारक है, यह कार्बन डाई आक्साइड से भी ज्यादा खतरनाक है. इस गैस के लगातार प्रयोग से वायुमण्डल में उपस्थित ओज़ोन परत में छेद हो गया है. इससे बहुत ही घातक रोग हो रहे हैं , त्वचा कैंसर इसी के कारण हो रहा है. इसलिए कम से कम फ्रिज का प्रयोग करना चाहिए.

उसके बाद फ्रिज के खुलने और बंद होने के दौरान कुछ समय के लिए बाहर की हवा अंदर और अंदर की नमी बाहर आती है. इस दौरान फंगस रबर कोटिंग पर जाकर बैठ जाते हैं. वो दिखाई नहीं देते. लेकिन धीरे-धीरे उनकी एक परत रबर कोटिंग पर बैठ जाती है. इसलिए जब भी फ्रिज का प्रयोग करें, उसे हर सप्ताह साफ करें. फ्रिज को साफ करने वाले विशेष स्प्रे का प्रयोग कर उसे डिसइंफेक्ट करें, ताकि आपके स्वास्थ्य की रक्षा हो सके.